उद्धव ने कहा-महाराष्ट्र की जो बदनामी हो रही है, उस पर बाद में बोलूंगा, खामोशी को कमजोरी न समझें; इसके बाद राज्यपाल से मिलने पहुंची कंगना

Posted on

  • Hindi News
  • National
  • Maharashtra Cm Uddhav Thackeray Press Confrence News Updates|Maharashtra CM Uddhav Said I Do Not Want To Talk About Politics; Corona Crisis Is Not Over Yet People Should Take Precautions

मुंबई6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ने रविवार को राज्य की जनता को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि घर-घर जाकर लोगों के स्वास्थ्य की जांच की जाएगी। कोरोना से बचाव के लिए सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी।

  • महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जनता को संदेश दिया, पर ज्यादातर बातें कोरोना के बारे में थीं
  • कंगना का दफ्तर 9 सितंबर को तोड़ा गया, उसके बाद वो लगातार उद्धव सरकार के खिलाफ बयान दे रही हैं

महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जनता को संबोधित किया। कंगना रनोट विवाद को लेकर उद्धव ने शुरुआत में ही यह साफ कर दिया कि राज्य में चल रही राजनीति पर वो अभी नहीं, बाद में बोलेंगे। उन्होंने कंगना का नाम तो नहीं लिया, लेकिन साफ कहा कि उनकी खामोशी को कमजोरी न समझा जाए। उन्होंने कहा कि राजनीतिक साइक्लोन आते रहेंगे और वो उनका सामना करते रहेेंगे।

हालांकि, इसके बाद सीएम ने राज्य की जनता से कोरोना के हालात और उससे बचने के रास्तों पर ही बात की। उद्धव के बयान के करीब दो घंटे बाद कंगना महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलने पहुंचीं। कंगना के साथ उनकी बहन रंगोली भी राजभवन पहुंची थीं।

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात करतीं कंगना रनोट।

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात करतीं कंगना रनोट।

कार्रवाई के बाद महाराष्ट्र सरकार पर कंगना के 4 तल्ख बयान
बीएमसी ने 9 सितंबर को कंगना के पाली हिल स्थित मणिकर्णिका फिल्म्स के दफ्तर में दो घंटे तक तोड़फोड़ की थी। कंगना इस कार्रवाई के खिलाफ हाईकोर्ट गई थीं, जिसके बाद कार्रवाई रोक दी गई थी। हाईकोर्ट ने भी बीएमसी पर तल्ख टिप्पणी की थी। कहा था- इतनी तेजी शहर के दूसरे अवैध निर्माणों पर दिखाई जाती तो मुंबई कुछ और होती। अपने दफ्तर पर कार्रवाई के बाद कंगना लगातार महाराष्ट्र सरकार पर हमलावर हैं।

1. बीएमसी की कार्रवाई के बाद 9 सितंबर को ही कंगना ने ट्वीट किया था- आज मेरा घर टूटा है, कल तेरा घमंड टूटेगा, जय महाराष्ट्र। उद्धव ठाकरे! तुझे क्या लगता है, तूने फिल्म माफिया के साथ मिलकर मेरा घर तोड़कर मुझसे बहुत बड़ा बदला लिया है। तुमने बहुत बड़ा एहसान किया है। मुझे पता तो था कि कश्मीरी पंडितों पर क्या बीती होगी। आज मुझे इस बात का एहसास हुआ है। ठाकरे, यह जो क्रूरता और आतंक मेरे साथ हुआ है, उसके कुछ मायने हैं। जय हिंद। जय भारत।

2. अगले ही दिन यानी गुरुवार को कंगना ने फिर उद्धव पर निशाना साधा। ट्वीट किया- तुम्हारे पिताजी के अच्छे कर्म तुम्हें दौलत तो दे सकते हैं मगर सम्मान तुम्हें खुद कमाना पड़ता है, मेरा मुंह बंद करोगे मगर मेरी आवाज मेरे बाद सौ और फिर लाखों में गूंजेगी, कितने मुंह बंद करोगे? कितनी आवाजें दबाओगे? कब तक सच्चाई से भागोगे। तुम कुछ नहीं हो, सिर्फ वंशवाद का एक नमूना हो।

3. शुक्रवार को कंगना ने एक वीडियो शेयर कर लिखा- महाराष्ट्र में सरकार का आतंक और अत्याचार बढ़ते ही जा रहे हैं। यह वीडियो महाराष्ट्र में पूर्व नेवी अफसर की शिवसैनिकों द्वारा पिटाई का था।

4. शनिवार को कंगना ने सोमनाथ मंदिर की फोटो ट्वीट की। उन्होंने लिखा- सोमनाथ को कितने दरिंदों ने कितनी बार बेरहमी से उजाड़ा, मगर इतिहास गवाह है कि क्रूरता और अन्याय कितने भी शक्तिशाली क्यूं न हों… आखिर में जीत भक्ति की ही होती है। हर-हर महादेव।

महाराष्ट्र सरकार ने कंगना के खिलाफ ड्रग्स मामले की जांच के आदेश दिए
महाराष्ट्र सरकार ने शुक्रवार को कंगना रनोट के खिलाफ शुक्रवार को ड्रग्स मामले में जांच के आदेश दिए थे। राज्य के गृह मंत्रालय के आदेश पर मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच जांच करेगी। देशमुख ने कहा कि अध्ययन सुमन कंगना के साथ रिलेशनशिप में थे और उन्होंने एक इंटरव्यू में यह आरोप लगाया था कि कंगना ड्रग्स लेती हैं।

0


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *