एक्ट्रेस ने लिखा- ‘इंडस्ट्री को 8 तरह के आतंकियों से बचाने की जरूरत’, तेलुगु सिनेमा को बताया भारत की सबसे बड़ी फिल्म इंडस्ट्री

Posted on

[ad_1]

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

कंगना रनोट के मुताबिक, लोगों का यह मानना गलत है कि भारत की सबसे बड़ी फिल्म इंडस्ट्री हिंदी फिल्म इंडस्ट्री है।

  • कंगना रनोट ने 8 आतंकियों में नेपोटिज्म और ड्रग्स माफिया को भी गिनाया
  • प्रधानमंत्री कार्यालय से सभी फिल्म इंडस्ट्रीज को साथ लाने की अपील की

कंगना रनोट की मानें तो बॉलीवुड को 8 तरह के आतंकवादियों से निजात दिलाने की जरूरत है। ये आठ आतंकवादी हैं नेपोटिज्म, ड्रग माफिया, सेक्सिज्म, धार्मिक और क्षेत्रीय आतंकवाद, फॉरेन फिल्म्स, पायरेसी, मजदूरों का शोषण, प्रतिभा का शोषण। कंगना ने शनिवार को अपने एक ट्वीट में यह बात कही।

हॉलीवुड फिल्मों की रिलीज पर उठाया सवाल

कंगना ने एक अन्य ट्वीट में लिखा है, “सबसे अच्छी डब की गई क्षेत्रीय फिल्मों को पैन इंडिया रिलीज नहीं मिल पाती। लेकिन हॉलीवुड की डब की हुई फिल्मों को मेनस्ट्रीम रिलीज मिलना चिंता की बात है। वजह ज्यादातर हिंदी फिल्मों की खराब क्वालिटी और थिएटर स्क्रीन्स पर उनका एकाधिकार है।”

‘सबसे बड़ी फिल्म इंडस्ट्री तेलुगु फिल्म इंडस्ट्री’

कंगना ने अपने एक अन्य ट्वीट में बॉलीवुड पर तंज कसा। उन्होंने लिखा है, “लोगों का यह मानना गलत है कि भारत की सबसे बड़ी फिल्म इंडस्ट्री हिंदी फिल्म इंडस्ट्री है। तेलुगु फिल्म इंडस्ट्री ने सबसे ऊंचा मुकाम बना लिया है और अब यह कई भाषाओं में पूरे भारत के लिए फिल्में बना रही है। कई हिंदी फिल्में हैदराबाद की रामोजी फिल्म सिटी में शूट हो रही हैं।”

सभी फिल्म इंडस्ट्रीज को साथ लाने की अपील

एक्ट्रेस ने प्रधानमंत्री कार्यालय को टैग करते हुए लिखा, “फिल्मों में पूरे देश को साथ लाने की क्षमता है। लेकिन प्लीज इन अलग-अलग इंडस्ट्रीज को पहले साथ लाया जाए, जिनकी व्यक्तिगत पहचान है। लेकिन सामूहिक पहचान नहीं है। प्लीज इन्हें अखंड भारत की तरह साथ लाएं। हम इसे दुनिया में नंबर 1 बना देंगे।”

यूपी सीएम ने नई फिल्मसिटी की घोषणा की

इस बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में देश की सबसे खूबसूरत फिल्मसिटी बनाने का ऐलान किया है। उनके मुताबिक, वे इसके लिए नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेसवे के क्षेत्र को बेहतर विकल्प के तौर पर देख रहे हैं। योगी ने कहा कि नई फिल्म सिटी न केवल फिल्म निर्माताओं के लिए बेहतर विकल्प उपलब्ध कराएगी। बल्कि इससे नए रोजगार भी तैयार होंगे।

0



[ad_2]
Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *