एचआरटीसी की चलती बस में लगी आग, मंडी-बरोट रूट पर गई बस में आज शाम को पेश आई घटना

Posted on

  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Fire In HRTC Moving Bus, Incident Occurred This Evening In Bus That Went On Mandi Barot Route

हिमाचल6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

हिमाचल के मंडी से बरोट जा रही एचआरटीसी की चलती बस में अचानक आग लग गई। कंडक्टर ने गीली मिट्‌टी से बुझाई।

  • ड्राइवर-कंडक्टर की सूझबूझ से सुरक्षित बच गए एक दर्जन यात्री
  • बस में आग बुझाने वाला सिलेंडर था या नहीं ,इसकी होगी जांच

हिमाचल के मंडी से बरोट जा रही एचआरटीसी की चलती बस में अचानक आग लग गई। गनीमत यह रही कि बस में मौजूद लोग समय रहते बाहर उतर आए और गीली मिट्टी की मदद से आग पर काबू पा लिया गया । हादसा आज शाम करीब पांच बजे हुआ। जिस दौरान निगम के मंडी डिपो की बस मंडी से बरोट वाया थलटूखोड़ जा रही थी। धमच्याण गांव के पास बस में आग भड़क गई। एकाएक बस से काफी ज्यादा धुआं निकलने लगा।

एचआरटीसी की चलती बस में अचानक आग लग गई

एचआरटीसी की चलती बस में अचानक आग लग गई

ड्राईवर जगदम्बा प्रसाद और कंडक्टर सुरेश कुमार ने बस को तुरंत रोककर सभी सवारियों को नीचे उतार दिया। फिर बस से उतर कर लोगों ने देखा की बस के नीचे से काफी ज्यादा धुआं निकल रहा था और साथ ही आग की लपटें भी दिखाई दे रही थी।

ड्राईवर- कंडक्टर और मौके पर मौजूद लोगों ने पास में मौजूद गीली मिट्टी की मदद को आग की लपटों पर फेंकना शुरू कर दिया और किसी तरह से आग पर काबू पाया गया। हालांकि बाद में पानी का बंदोबस्त भी किया गया लेकिन तब तक अधिकतर आग पर काबू पा लिया गया था। इस सारे घटनाक्रम का वहां मौजूद सवारियों ने वीडियो भी बनाया है।

ड्राईवर-कंडक्टर ने सवारियों को उतार लोगों की मदद से आग बुझाई

ड्राईवर-कंडक्टर ने सवारियों को उतार लोगों की मदद से आग बुझाई

हालांकि सरकार ने बसों में आग बुझाने वाले सिलेंडर लगाए हुए हैं लेकिन अब यह जांच का विषय है कि क्या बस में आग बुझाने वाला सिलेंडर था या नहीं। अगर था तो उसका इस्तेमाल क्यों नहीं किया गया।जब इस बारे में एचआरटीसी के आरएम गोपाल शर्मा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि टेक्निकल टीम को मौके पर भेजा गया है और मामले की जांच शुरू कर दी गई है। जो भी तथ्य सामने आएंगे उसी के तहत नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

0


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *