ऑनलाइन क्लासेज के लिए सरकार दे गरीब छात्राें काे माेबाइल सुविधा: मेहरा

Posted on

[ad_1]

शिमला3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

छात्र अभिभावक मंच ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि वह ऑनलाइन क्लासेज के लिए गरीब छात्रों को मोबाइल सुविधा दे और सभी अभिभावकों द्वारा बच्चों की ऑनलाइन क्लासेज के लिए नए मोबाइल खरीदने व हर महीने के न्यूनतम डेटा प्लान की राशि को फीस का हिस्सा मानकर उतनी राशि की कुल फीस से कटौती की जाए। मंच के संयोजक विजेंद्र मेहरा ने गहरी चिंता प्रकट की है कि ऑनलाइन क्लासेज के लिए गरीब छात्रों को भारी दिक्कत झेलनी पड़ रही है। इससे अभिभावक भारी परेशानी में हैं। उन्हें ऑनलाइन क्लासेज के लिए कर्जा तक लेना पड़ रहा है। हिमाचल प्रदेश स्टेट कोऑपरेटिव बैंक से हजारों अभिभावक व छात्र ऑनलाइन क्लासेज के लिए कर्जा तक ले चुके हैं। कांगड़ा के ज्वालाजी में एक गरीब अभिभावक को बच्चों की ऑनलाइन क्लासेज के लिए अपनी दूध देने वाली गाय औने-पौने दामों में बेचनी पड़ी व तब जाकर मोबाइल का जुगाड़ हो पाया।

एक दिन पहले हमीरपुर में एक प्लस वन की गरीब छात्रा द्वारा मोबाइल की कमी के कारण आत्महत्या कर ली। उन्हाेंने कहा कि कामकाजी अभिभावकों को बच्चों की ऑनलाइन क्लासेज के लिए नए मोबाइल खरीदने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। इसमें हजाराें रुपए का खर्च आ रहा है। हर रोज ऑनलाइन क्लासेज के लिए कम से कम दो जीबी डेटा की जरूरत पड़ती है। इसके लिए मोबाइल कंपनियों का न्यूनतम डेटा प्लान छह सौ रुपए का है। यह अभिभावकों पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ है।

0

[ad_2]
Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *