केएस भरत का कीवी टीम को झटका: VIDEO में देखें, प्लेइंग-XI का हिस्सा ना होने के बाद भी कैसे दिलाई टीम इंडिया को बड़ी कामयाबी

0
19


30 मिनट पहले

पहले टेस्ट के तीसरे दिन 67वें ओवर में भारतीय टीम को पहली सफलता मिली, लेकिन अंपायर ने पहले इसे नॉटआउट दे दिया था। वो तो भला हो विकेटकीपर केएस भरत का जिन्होंने जबरदस्ती कप्तान अजिंक्य रहाणे को रिव्यू लेने को कहा। रीप्ले में साफ नजर आया कि गेंद विल यंग के बल्ले का हल्का सा किनारा लेते हुए भरत के गलव्स में गई थी। अश्विन भी भरत के फैसले से सहमत नजर आए।

बता दें कि भरत प्लेइंग इलेवन का भी हिस्सा नहीं हैं। वह ऋद्धिमान साहा की गर्दन में खिंचाव के कारण विकेटकीपिंग कर रहे हैं। 26 वर्षीय भरत का इंटरनेशनल क्रिकेट में ये पहला कैच था।

अंपायर का एक और गलत फैसला
73वें ओवर की चौथी गेंद पर अश्विन ने लाथम के खिलाफ LBW की जोरदार अपील की, लेकिन अंपायर नितिन मेनन ने लाथम को नॉटआउट दे दिया। अश्विन विकेट को लेकर पूरी तरह से संतुष्ठ थे, लेकिन भारतीय टीम ने रिव्यू न लेने का निर्णय लिया। हालांकि बाद में बॉल ट्रैकिंग में साफ दिखा कि लाथम LBW थे।

अगर टीम इंडिया ने ये रिव्यू ले लिया होता तो टीम इंडिया खतरनाक लग रहे लाथम का भी विकेट भारत की झोली में आ जाता।

लंच से पहले भारत को मिली सफलता

लंच से ठीक पहले तेज गेंदबाज उमेश यादव ने कीवी कप्तान केन विलियम्सन (18) को LBW आउट कर टीम इंडिया को दूसरी सफलता दिलाई। दूसरे विकेट के लिए केन और लाथम ने 117 गेंदों पर 46 रन जोड़े। न्यूजीलैंड की टीम मैच में बहुत ही मजबूत स्थिती में पहुंच गई है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here