कोरोना के साथ दूसरी गंभीर बीमारियों के मरीजों का इलाज प्राथमिकता: जयराम

Posted on

शिमला21 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • विधानसभा में बोले सीएम: होम आइसोलेशन को बढ़ावा देना जरूरी
  • मुख्यमंत्री ने कहा बुखार, खांसी और जुखाम को हलके में न लें, तुरंत उपचार करवाएं

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि अब सरकार की प्राथमिकता, कोरोना संक्रमण के साथ अन्य गंभीर बीमारियों से पीड़ित मरीजों का अस्पताल में इलाज करवाना है। प्रदेश में होम आइसोलेशन को बढ़ावा दिया जाएगा। इसके लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंत्रियों, विधायकों और जन प्रतिनिधियों से सहयोग की अपील की है। बुधवार को विधानसभा में कोविड-19 पर विशेष वक्तव्य में मुख्यमंत्री ने कहा कि साथ मिलकर ही कोरोना से लड़ा जा सकता है। उन्होंने जनता से अपील की कि कोविड-19 के लक्षणों बुखार, खांसी और जुखाम होने पर स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे और जांच करवाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 की टेस्टिंग को और बढ़ाया जा रहा है।

जयराम ठाकुर ने सदन में सदस्यों से कहा कि वे लक्षण रहित कोरोना मरीजों व हलके लक्षणों वाले मरीजों को होम आइसोलेशन में रहने के लिए प्रोत्साहित करें। उन्होंने दिल्ली सरकार का हवाला देते हुए कहा कि वहां पर होम आइसोलेशन में रखे 95 हजार मरीज ठीक हुए हैं। हिमाचल में भी 1655 मरीज होम आइसोलेशन में हैं। इसे बढ़ावा देने को समाज में समाज में जागरूकता लानी होगी।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश कोरोना संक्रमण के बढते मामलों पर चिंता जताई और कहा कि सरकार बढ़ते हुए मरीजों के इलाज के लिए पूरी तरह तैयार है। उन्होंने कहा कि अभी तक बहुत कम मरीजों को ऑक्सीजन या फिर वेंटिलेटर की जरूरत पड़ी है। इस समय भी स्वास्थ्य विभाग बढ़ते हुए मरीजों की देखभाल और उचित उपचार के लिए तैयार है। सभी के लिए उपचार की उपलब्धता को सुनिश्चित करने के लिए पांच मेक शिफ्ट अस्पताल शिमला टांडा, नालागढ़, ऊना और नाहन में स्थापित किए जाएंगे।

मुकेश अग्निहोत्री बोले- पहले जनता थी जयराम भरोसे, अब हुई रामभरोसे

प्रदेश की सीमाओं को सभी के लिए खोले जाने के मंत्रिमंडल के फैसले पर नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि जब प्रदेश में कोरोना का एक मामला था तब सरकार ने लाॅकडाउन का निर्णय लिया। अब जब प्रदेश में 88 लोगों की कोरोना से जान चली गई है, संक्रमिताें की संख्या 10 हजार से अधिक हाे गई, तब सरकार ने सीमाओं को खोल दिया है।

मुकेश ने कहा, पहले जनता जयराम के भरोसे थी, खोलने के बाद अब जनता को राम भरोसे छोड़ दिया है। सरकार ने प्रदेश की सीमाओं को तो खोल दिया है। सरकार बताए कि कोरोना से निपटने के लिए सरकार ने क्या रणनीति तैयार की है। साथ ही मुकेश अग्निहोत्री ने कैग की रिपोर्ट की प्रींटिड काॅपी उपलब्ध करवाए जाने को कहा।

0


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *