कोरोना से 6 और मौतों के साथ आंकड़ा 130 हुआ, 331 नए केस

Posted on

शिमलाएक दिन पहले

  • कॉपी लिंक
  • हिमाचल में बढ़े केस, मंडी में 66, शिमला में 48, सिरमौर में 79

प्रदेश में कोरोना के जहां मरीजों की संख्या बढ़ रही हैं, वहीं दूसरी ओर मौत का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है। प्रदेश में 331 नए केसों के साथ कुल संक्रमित मामले 12769 हो गए हैं। अब तक प्रदेश में इस बीमारी से 130 लोगों की मौत हो गई है। हालांकि 8491 लोग ठीक भी हुए हैं। मंगलवार को 6 मौते हुई हैं। बिलासपुर में 14, चंबा में 17, हमीरपुर में 10, कांगड़ा में 19, किन्नौर में 3, कुल्लू में 25, लाहुल स्पीति में 1, मंडी में 66, शिमला में 48, सिरमौर में 79, सोलन में 38 और ऊना में 11 केस आए हैं। मंडी जिले के दो मृतकों में एक शहर के पुरानी मंडी निवासी बुजुर्ग महिला है और एक व्यक्ति चच्योट के जरोल गांव से संबंधित है। तीनों मृतक गंभीर रोगों से भी पीड़ित थे। वहीं सिरमौर जिले में भी कोरोना से एक और मौत हुई है। पांवटा के 71 वर्षीय बुजुर्ग ने मंगलवार को दम तोड़ा। किडनी की बीमारी से पीड़ित बुजुर्ग को पांवटा से नाहन मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया था, लेकिन उसकी मौत हो गई।

उद्याेग मंत्री के चालक के संपर्क में आए 18 काे किया हाेम क्वारेंटाइन
वहीं दूसरी तरफ उद्याेग मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर के चालक के प्राइमरी संपर्क में 18 लाेग आए है। यह सभी सचिवालय में कमरा नंबर ई- 214, ई- 216-217 में उनके संपर्क में आए है। सामान्य प्रशासन विभाग ने सभी दस दिनाें के लिए हाेम क्वारेंटाइन में भेज दिया है। सभी के छठे दिन काेराेना टेस्ट हाेंगे। सामान्य प्रशासन विभाग ने कहा है कि अगर किसी काे काेई लक्ष्य आते है ताे वह स्वास्थ्य विभाग में संपर्क करे।

आईजीएमसी में कोरोना पेशेंट की रिपोर्ट में गड़बड़ी, नेगेटिव युवक को बता दिया पॉजिटिव
आईजीएमसी में कोरोना पॉजिटिव मरीज की रिपोर्ट में गड़बड़ी का मामला सामने आया है। 17 सितंबर को आईजीएमसी में दो युवकों के कोरोना टेस्ट हुए। संयोग से दोनों के नाम हेमंत हैं। इसमें एक कुल्लू से आईजीएमसी आया था और दूसरा आईजीएमसी में ही दवा की दुकान चलाता है। दोनों की जब रिपोर्ट आई तो इसमें विभाग ने आईजीएमसी में दवा दुकान चलाने वाले युवक को पॉजिटिव बता दिया जबकि उसकी रिपोर्ट नेगेटिव थी।

वहीं कुल्लू के हेमंत की रिपोर्ट पॉजिटिव थी, उसे नेगेटिव बता दिया। यही नहीं दवा विक्रेता को कोविड केयर सेंटर मशोबरा में शिफ्ट कर दिया गया। यहां पर जब उन्हें कोई लक्षण नहीं आया तो उन्होंने डॉक्टर को फोन कर इस बारे में बताया। डॉक्टर ने उनकी पहले की रिपोर्ट दोबारा से निकलवाई तो उसमें उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई। अब स्वास्थ्य विभाग इसकी जांच कर रहा है कि युवक की रिपोर्ट में किस तरह से गड़बड़ी हुई।

0


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *