क्या ‘गुड मॉर्निंग’ और ‘गुड नाइट’ मैसेज भेजने से चीनी हैकर्स के पास पहुंच सकता है आपका डेटा ? जानें क्या है वायरल मैसेज की सच्चाई

Posted on

  • Hindi News
  • No fake news
  • Fact Check: Can Sending Your ‘Good Morning’ And ‘Good Night’ Messages Reach Your Data With Chinese Hackers? Know What Is The Truth Of Viral Messages

4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

क्या हो रहा है वायरल : सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है। इसमें यूजर्स को चेतावनी दी जा रही है कि वे अब से गुड मॉर्निंग और गु़ड नाइट मैसेज किसी को भी सेंड न करें। ऐसा करने से उनका डेटा चीनी हैकर्स तक पहुंच सकता है। यूजर्स से अपने मोबाइल में पहले से मौजूद इस तरह के मैसेज को डिलीट करने को भी कहा जा रहा है।

वायरल मैसेज के मुताबिक, ‘शंघाई चाइना इंटरनेशनल न्यूज एजेंसी’ ने अपने सभी पाठकों को एक चेतावनी दी है। कोई भी गुड मॉर्निंग या गुडनाइट मैसेज से जुड़े फोटो और वीडियो सेंड न करें। क्योंकि इन्हें चीन के हैकर्स ने डिजाइन किया है। इन फोटो और वीडियो के अंदर फिशिंग कोड छुपा होता है। अगर आप गुड मॉर्निंग या गुडनाइट मैसेज से जुड़े यह फोटो या वीडियो शेयर करते हैं। तो आपके मोबाइल से न सिर्फ डेटा चोरी हो सकता है बल्कि हैकिंग का भी खतरा है।

और सच क्या है?

  • किसी भी न्यूज एजेंसी पर हमें ऐसी खबर नहीं मिली। जिससे पुष्टि होती हो कि गुड मॉर्निंग और गुड नाइट मैसेज भेजने से मोबाइल हैक होने के खतरे की चेतावनी दी गई है।
  • वायरल मैसेज के की वर्ड को सोशल मीडिया पर सर्च करने से हमें पता चला कि यही मैसेज 3 साल पहले भी वायरल हो चुका है। इससे ये तो स्पष्ट हो गया कि वायरल मैसेज में जिस कथित चेतावनी की बात की जा रही है वह हाल ही में जारी नहीं हुई है।
  • CERT भारत में साइबर सिक्योरिटी की नोडल एजेंसी है। यह एजेंसी साइबर अटैक के बारे में हर छोटे-बड़े अपडेट जनता तक पहुंचाती है। एजेंसी की वेबसाइट पर हमें गुड मॉर्निंग मैसेज से जुड़ी कोई चेतावनी नहीं मिली।
  • CERT की वेबसाइट पर आखिरी अपडेट 1 सितंबर का है। जिसमें बताया गया है कि gov.in वाले ई-मेल आईडी इस समय फिशिंग कैंपेन के निशाने पर हैं।
  • मैसेज में ‘शंघाई चाइना इंटरनेशनल न्यूज एजेंसी’ का जिक्र किया गया है। इंटरनेट खंगालने पर हमें इस नाम की न्यूज एजेंसी की कोई वेबसाइट नहीं मिली। यानी वायरल मैसेज में दिया गया न्यूज एजेंसी का नाम भी मनगढ़ंत है। इन सबसे स्पष्ट है कि, गुड मॉर्निंग मैसेज भेजने से मोबाइल हैक होने की चेतावनी का दावा फेक है।

0


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *