खत्म होगा 56 पारी और 742 दिनों का इंतजार!: वानखेड़े में 72 की औसत से रन बनाते हैं कोहली, मुंबई में खेले आखिरी टेस्ट में जड़ा था दोहरा शतक

0
44


  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Virat Kohli Batting Average At Wankhede Stadium; India (IND) Vs New Zealand (NZ) Mumbai Test

2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

कानपुर टेस्ट ड्रॉ होने के बाद भारत-न्यूजीलैंड के बीच दूसरा टेस्ट मैच 3 नवंबर से मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला जाएगा। इस मुकाबले से भारतीय कप्तान विराट कोहली की भी वापसी देखने को मिलेगी। कोहली को पहले टेस्ट मैच में आराम दिया गया था। टी-20 वर्ल्ड कप में खराब प्रदर्शन के बाद विराट मुंबई टेस्ट से मैदान पर नजर लौटेंगे। भारतीय कप्तान ने 2 सालों से इंटरनेशनल क्रिकेट में कोई शतक नहीं लगाया है और एक बार फिर उनके फैंस को उनसे शतक की उम्मीद रहेगी।

मुंबई में खत्म होगा इंतजार
कप्तान कोहली को अंतिम शतक लगाए आज 740 दिन हो गए हैं (दूसरा टेस्ट 3 नवंबर को शुरू होगा, तबतक 742 दिन हो जाएंगे), लेकिन उनका ये इंतजार मुंबई टेस्ट में खत्म हो सकता है। दरअसल, मुंबई के ऐतिहासिक वानखेड़े स्टेडियम में किंग कोहली का बल्ला खूब आग उगलता है। बता दें कि, भारतीय सरजमीं पर विराट ने साल 2011 अपना पहला टेस्ट इसी मैदान पर खेला था और वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले गए उस मुकाबले की दोनों पारियों में उनके बल्ले से 50+ का स्कोर देखने को मिला था।

वानखेड़े स्टेडियम में विराट ने अब तक कुल 4 टेस्ट मैच खेले हैं और 72.17 की दमदार औसत के साथ कुल 433 रन बनाने में सफल रहे हैं। 6 पारियों में उनके बल्ले से 1 शतक और 3 अर्धशतक देखने को मिले हैं। इतना ही नहीं विराट ने जब आखिरी बार इस मैदान पर कोई टेस्ट मैच खेला था, तो दोहरा शतक लगाने में कामयाब रहे थे। साल 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ उन्होंने 340 गेंदों पर 235 रनों की पारी खेली थी।

इन आंकड़ों को देखा जाए तो, ये कहना गलत नहीं होगा कि भारतीय कप्तान विराट कोहली की खराब फॉर्म और उनके 71वें इंटरनेशनल शतक का बेहद लंबा इंतजार अब बहुत ही जल्द मुंबई टेस्ट में खत्म हो सकता है।

56 पारियों से शतक का इंतजार
विराट कोहली ने इंटरनेशनल क्रिकेट में आखिरी शतक दो साल पहले बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए पिंक बॉल टेस्ट में लगाया था। उस समय कोलकाता टेस्ट में कैप्टन कोहली के बल्ले से 136 रन देखने को मिले थे और टीम इंडिया ने यह मुकाबला पारी और 46 रनों से जीता था। इस मैच के बाद से विराट ने तीनों फॉर्मेट में मिलाकर कुल 50 मुकाबले खेले और 56 पारियों में एक बार भी 100 रनों के आंकड़े को नहीं छू सके।

विराट कोहली अपने आखिरी शतक के बाद से अब तक 12 टेस्ट मैच, 15 वनडे और 23 टी-20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं। इन 12 टेस्ट में उन्होंने सिर्फ 26.80 की औसत से 563 रन बनाए हैं। इनमें 5 अर्धशतक शामिल हैं। 15 वनडे में उन्होंने 8 अर्धशतक की मदद से 649 रन बनाए। विराट ने 23 टी-20 इंटरनेशनल मैचों में 7 अर्धशतक की मदद से 777 रन बनाए हैं। यानी इस दौरान उन्होंने 20 बार अर्धशतक का माइलस्टोन पार किया, लेकिन एक बार भी उसे शतकीय पारी में कन्वर्ट नहीं कर पाए।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here