धर्मशाला का मामला- सगे भाई को गोली मारने की कोशिश करने पर कारावास व 10 हजार रुपए जुर्माने की सजा

Posted on

धर्मशाला8 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

(प्रतीकात्मक फोटो).

  • जितने समय तक वह जेल में रहा उस अवधि तक की सजा व 10 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है, दोषी कारावास की सजा भुगत चुका है

जिला एवं सत्र न्यायाधीश जेके शर्मा की अदालत ने सगे भाई को गोली मारने की कोशिश करने पर गगल निवासी नरेश कुमार को धारा 308 आईपीसी के तहत दोष सिद्ध होने पर कारावास व जुर्माने की सजा सुनाई है। फैसले के मुताबिक जितने समय तक वह जेल में रहा उस अवधि तक की सजा व 10 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है।

दोषी कारावास की सजा भुगत चुका है। जिला न्यायवादी कांगड़ा राजेश वर्मा ने बताया 13 जून, 2010 को सुबह 8 बजकर 40 मिनट पर भूपिंद्र सिंह अपने भाई वीरेंद्र कुमार, माता कमला देवी और ट्रैक्टर चालक भूपेंद्र के साथ बिजाई करने के लिए खेतों में पहुंचे, जोकि नरेश कुमार के घर के सामने है।

तब उसी का सगा भाई नरेश कुमार अपने घर के बरामदे में आया और ललकारने लगा कि खेतों को बीजना छोड़ दो, वरना मैं तुझे जान से ही खत्म कर दूंगा। जब भूपिंद्र सिंह व उसके परिवार ने बिजाई के साथ खेतों में पड़े बांसों को हटाना जारी रखा तो नरेश कुमार सीधा कमरे में गया और दो नाली टोपीदार बंदूक निकाल कर फायर करने की कोशिश की।

भूपिंद्र सिंह अपने बचाव में खेतों के साथ बने शौचालय की आड़ ले ली। कुछ सेकंड में उसने फायर कर दिया, जिससे गोलियों के छर्रे उसे छूते हुए सामने पेड़ के तने पर जाकर लगे। इसके बाद पुलिस थाना में मामला गया और फिर न्यायालय पहुंचा। जहां इस मामले की पैरवी पहले उप जिला न्यायवादी संदीप अग्निहोत्री और बाद में जिला न्यायवादी राजेश वर्मा ने की।

0


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *