पर्यावरण मंत्रालय ने कीरतपुर-नेरचौक फोरलेन को दी मंजूरी, निर्माण के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरु

0
84


हमीरपुर4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

फाइल फोटो

(विक्रम ढटवालिया) 1455 करोड़ की लागत से बनने वाले कीरतपुर-नेरचौक फोरलेन के रुके हुए काम को पर्यावरण एवं वन मंत्रालय ने फिर से मंजूरी दे दी है। यह काम ढाई साल में पूरा होना है। इस मार्ग के बनने से कुल्लू, मंडी व हमीरपुर से चंडीगढ़ की दूरी 45 किमी कम हो जाएगी। मंजूरी मिलने के बाद इस फोरलेन के निर्माण को लेकर टेंडर प्रक्रिया भी शुरू हो गई है।

टेंडर की दो बिड भी खोल दी गई हैं और अगले दो माह में यह काम अवाॅर्ड होने की उम्मीद है। कीरतपुर-मनाली के बीच यह तकरीबन 84 किलोमीटर का निर्माणाधीन सड़क मार्ग काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि नेरचौक-कीरतपुर के बीच सड़क बनने से मनाली तक सबसे ज्यादा दूरी कम होनी है। काबिले गौर है कि मंत्रालय ने कुछ समय पहले अलाइनमेंट को लेकर फोरलेन के निर्माण पर रोक लगा दी थी। मंत्रालय ने उक्त फोरलेन के बदले गए रोड अलाइनमेंट प्लान और भूमि अधिग्रहण प्लान में बदलाव पर सरकार की ओर से कोई जवाब न मिलने पर कार्रवाई की थी। एनएचएआई ने पूरे प्रोजेक्ट का हवाला देकर मंत्रालय को भेजा था, जिस पर मंत्रालय अब निर्माण करवाने काे तैयार हो गया है।

इस बार इस फोरलेन का टेंडर ढाई साल के लिए लगाया जा रहा है। संबंधित ठेकेदार ही 15 साल तक इस रोड की देखभाल भी करेगा। इस मार्ग में 6 सुरंगें भी बनाई जा रही हैं। इनमें से कुछ का 80 % काम पूरा भी हो चुका है।

मंत्रालय से मंजूरी का पत्र मिल गया है

  • पर्यावरण मंत्रालय ने मिनिस्ट्री ब्राउनफील्ड (पूरानी सड़क पर बदलाव) के काम को फिर से जारी रखने की स्वीकृति दे दी है। बीती शाम ही यह पत्र मंत्रालय से आया है। कंस्ट्रक्शन कंपनी को 15 साल तक इसे मेंटेन भी करना होगा। ढाई साल में काम मुकम्मल करना होगा।

नवीन मिश्रा, डायरेक्टर, एनएचएआई मंडी



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here