पालकी में दो ग्लेशियर पार कर अस्पताल पहुंचाया बीमार बुजुर्ग।

बर्फबारी से बढ़ीं मुश्किलें: पालकी में दो ग्लेशियर पार कर अस्पताल पहुंचाया बीमार बुजुर्ग

Posted on


संवाद न्यूज एजेंसी, भरमौर (चंबा)
Published by: Krishan Singh
Updated Wed, 19 Jan 2022 12:01 PM IST

सार

ग्रामीणों ने दो ग्लेशियर पार कर बर्फ की मोटी दीवारों के बीच करीब पालकी उठाकर पांच किलोमीटर का सफर तय किया। फिसलन भरे रास्ते में बीमार बुजुर्ग को अस्पताल पहुंचाना चुनौती से कम नहीं था। यह मामला जनजातीय क्षेत्र भरमौर की साहं पंचायत का है। 

पालकी में दो ग्लेशियर पार कर अस्पताल पहुंचाया बीमार बुजुर्ग।
– फोटो : संवाद

ख़बर सुनें

चारों ओर बिछी बर्फ की मोटी चादर के बीच पालकी में बैठाकर बीमार बुजुर्ग को अस्पताल पहुंचाकर जान बचाई गई। ग्रामीणों ने दो ग्लेशियर पार कर बर्फ की मोटी दीवारों के बीच करीब पालकी उठाकर पांच किलोमीटर का सफर तय किया। फिसलन भरे रास्ते में बीमार बुजुर्ग को अस्पताल पहुंचाना चुनौती से कम नहीं था। यह मामला जनजातीय क्षेत्र भरमौर की साहं पंचायत का है। सोमवार दोपहर को बुजुर्ग मेंजरी राम की तबीयत अचानक खराब हो गई। उन्हें गांव से मीलों दूर अस्पताल पहुंचाना चुनौती से कम नहीं था। परिवार के लोगों और ग्रामीणों ने मेंजरी राम को पालकी में बैठाया और अस्पताल की ओर चल दिए।

दो ग्लेशियरों के बीच फिसलन भरे रास्ते से होते हुए वे ढल्ली से साहं में सड़क तक पहुंचे। यहां से वाहन में बुजुर्ग को सिविल अस्पताल भरमौर पहुंचाया गया। उपचार के बाद मरीज को फिर पालकी में बैठाकर घर तक पहुंचाया। जनजातीय क्षेत्र भरमौर में भारी बर्फबारी के बाद अधिकांश पंचायतों के संपर्क मार्ग बंद हैं। कई पंचायतों में अंधेरा पसरा है। ग्रामीण नरेश कुमार, प्रकाश चंद, दलीप कुमार, विनोद कुमार और सुरेश कुमार ने प्रशासन से ग्रामीण क्षेत्रों की संपर्क सड़कों को वाहनों की आवाजाही के लिए बहाल करने की मांग की है। एडीएम भरमौर संजय कुमार धीमान ने कहा कि भारी बर्फबारी से बंद मार्गों को बहाल करने में विभागीय मशीनरी और मेन पावर जुटी है। बुधवार तक ढल्ली-साहं सड़क खोलने का प्रयास है।

विस्तार

चारों ओर बिछी बर्फ की मोटी चादर के बीच पालकी में बैठाकर बीमार बुजुर्ग को अस्पताल पहुंचाकर जान बचाई गई। ग्रामीणों ने दो ग्लेशियर पार कर बर्फ की मोटी दीवारों के बीच करीब पालकी उठाकर पांच किलोमीटर का सफर तय किया। फिसलन भरे रास्ते में बीमार बुजुर्ग को अस्पताल पहुंचाना चुनौती से कम नहीं था। यह मामला जनजातीय क्षेत्र भरमौर की साहं पंचायत का है। सोमवार दोपहर को बुजुर्ग मेंजरी राम की तबीयत अचानक खराब हो गई। उन्हें गांव से मीलों दूर अस्पताल पहुंचाना चुनौती से कम नहीं था। परिवार के लोगों और ग्रामीणों ने मेंजरी राम को पालकी में बैठाया और अस्पताल की ओर चल दिए।

दो ग्लेशियरों के बीच फिसलन भरे रास्ते से होते हुए वे ढल्ली से साहं में सड़क तक पहुंचे। यहां से वाहन में बुजुर्ग को सिविल अस्पताल भरमौर पहुंचाया गया। उपचार के बाद मरीज को फिर पालकी में बैठाकर घर तक पहुंचाया। जनजातीय क्षेत्र भरमौर में भारी बर्फबारी के बाद अधिकांश पंचायतों के संपर्क मार्ग बंद हैं। कई पंचायतों में अंधेरा पसरा है। ग्रामीण नरेश कुमार, प्रकाश चंद, दलीप कुमार, विनोद कुमार और सुरेश कुमार ने प्रशासन से ग्रामीण क्षेत्रों की संपर्क सड़कों को वाहनों की आवाजाही के लिए बहाल करने की मांग की है। एडीएम भरमौर संजय कुमार धीमान ने कहा कि भारी बर्फबारी से बंद मार्गों को बहाल करने में विभागीय मशीनरी और मेन पावर जुटी है। बुधवार तक ढल्ली-साहं सड़क खोलने का प्रयास है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *