विधायक सुंदर लाल ठाकुर मामले में सीएम के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष ने सदन से किया वाॅकआउट; कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष ने आरोप लगाया-महाराष्ट्र में बीएमसी की कार्रवाई की भड़ास कांग्रेस नेताओं पर निकल रही

Posted on

  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Unhappy With CM’s Reply In MLA Sundar Lal Thakur Case, Opposition Walked Out From The House.

शिमलाएक दिन पहले

  • कॉपी लिंक

सोमवार को दोपहर बाद शुरू हुए विधानसभा सत्र में प्रश्नकाल शुरू होने से पहले नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कुल्लू से कांग्रेस विधायक सुंदर सिंह ठाकुर को एसपी ऑफिस में बंद करने का मामला पॉइंट ऑफ ऑर्डर के तहत उठाया।

  • प्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा भाजपा प्रदेश के लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रही है
  • सीएम की ओर से एसपी कुल्लू के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करने से नाराज विपक्ष ने विधानसभा से नारेबाजी करते हुए वाॅकआउट किया

हिमाचल प्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने भाजपा पर आरोप लगाया है कि महाराष्ट्र में बीएमसी की कार्रवाई का विरोध कर हिमाचल में वह कांग्रेस नेताओं के खिलाफ अपनी भड़ास निकाल रही है। इससे वह प्रदेश के लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रही है। राठौर ने भाजपा नेताओं द्वारा प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के खिलाफ नारेबाजी की आलोचना की और कहा कि महाराष्ट्र में बीएमसी की कार्रवाई से प्रदेश कांग्रेस का कोई लेना देना नहीं। ले, वीरभद्र सिंह के खिलाफ भाजपा की नारेबाजी,प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय का घेराव और नारेबाजी इसकी बौखलाहट ही है। उन्होंने आगे कहा कि जिस तरह भाजपा नेताओं द्वारा कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के शिमला स्थित घर को अवैध बताकर तोड़ने की धमकी दी है, उससे साफ हो रहा है कि भाजपा प्रदेश में गुंडाराज को बढ़ावा देना चाहती है। बोले, देश में कानून का राज चलता है न कि किसी सत्तारूढ़ दल की मनमर्जी का।

राठौर ने कुल्लू के विधायक सुंदर सिंह ठाकुर के आवास पर जबरन घुसने, धक्का मुक्की करने और नारेबाजी करने की निंदा करते हुए जिला प्रशासन द्वारा कोई भी कार्रवाई ना करने पर कड़ा रोष जताया है। बोले,जब एक जनप्रतिनिधि का घर ही सुरक्षित नहीं है तो आम लोग कैसे सुरक्षित रह सकते हैं। राठौर ने बीजेपी को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर उन्होंने कांग्रेस नेताओं के खिलाफ अपनी ओछी हरकतें व बयानबाजी बंद नहीं की तो कांग्रेस को मजबूरन विरोध में मैदान में उतरना पड़ेगा और अगर इसके चलते प्रदेश में कोई विपरीत परिस्थितियां बनती हैं तो इसकी पूरी जिम्मेदारी सरकार की होगी।

सोमवार को दोपहर बाद शुरू हुए विधानसभा सत्र में प्रश्नकाल शुरू होने से पहले नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कुल्लू से कांग्रेस विधायक सुंदर सिंह ठाकुर को एसपी ऑफिस में बंद करने का मामला पॉइंट ऑफ ऑर्डर के तहत उठाया। उनका कहना था कि जब एसपी ऑफिस के बाहर विधायक धरने पर बैठे थे,तब कोरोना का एक मामला आने की आड़ में एसपी ऑफिस को सील कर दिया गया। हालांकि पूरी बिल्डिंग या ऑफिस को बंद नहीं किया जा सकता। सदन में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा इस विषय पर पहले भी चर्चा हो चुकी है, स्वयं कांग्रेस विधायक सुंदर सिंह ठाकुर ने अपना पक्ष रखा था।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की ओर से एसपी कुल्लू के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करने से नाराज विपक्ष ने विधानसभा से नारेबाजी करते हुए वाॅकआउट किया। विपक्ष का कहना था कि विधायक को एसपी ऑफिस में बंद करने के लिए सीएम जयराम एसपी के खिलाफ कार्रवाई करें। कांग्रेस के सदस्यों द्वारा वाॅकआउट करने के बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा यह निंदनीय है, क्योंकि कांग्रेस विधायक सुंदर सिंह ठाकुर द्वारा होटल के साथ अवैध कब्जा किया गया है। जिस बारे में प्रदेश उच्च न्यायालय ने इस कब्जे को हटाने का आदेश दिया है। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि कोई भी व्यक्ति संस्था प्रदेश सरकार के मंत्रियों, विधायकों के घर के बाहर प्रदर्शन नहीं कर सकते हैं। प्रदेश सरकार इसकी इजाजत नहीं देगी।

0


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *