शिकारियों की गोली की शिकार हुई मादा तेंदुआ ,शनिवार शाम को ग्रामीणों ने पुलिस को सूचित किया

Posted on

नालागढ़3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

नालागढ़ के पहाड़ी क्षेत्र रामशहर के गांव भियुखरी में एक मादा तेंदुआ का शव मिला। तेंदुए को गोली मारी गई थी।

  • आज सुबह तेंदुआ का पोस्टमार्टम करवा कर नियमों के अनुसार जलाया गया
  • पुलिस व फॉरेस्ट विभाग शिकारियों की तलाश में कार्रवाई कर रहे

प्रदेश के नालागढ़ के पहाड़ी क्षेत्र रामशहर के गांव भियुखरी में मादा तेंदुआ की गोली मारकर हत्या करने का मामला सामने आया है। शिकारियों ने देर रात वारदात को अंजाम दिया। फॉरेस्ट विभाग व पुलिस को सूचना मिली कि जंगल में तेंदुआ मरा हुआ है। सूचना के तुरंत बाद फॉरेस्ट विभाग व थाना रामशहर से पुलिस की टीम मौके पर पहुंच जांच शुरू की।

थाना रामशहर में वन्य संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत मामला दर्ज करते आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। फॉरेस्ट व पुलिस विभाग मिलकर संयुक्त जांच में जुट गया है। जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत भियुखरी के सड़क किनारे जंगल में करीब डेढ़ से दो साल की मादा तेंदुआ को गोली मारी गई,जिसके बाद जख्मी हालत में तेंदुआ दूर आ पहुंचा,जिसे शिकारी तलाश नही पाए।

फॉरेस्ट विभाग की टीम ने मौके पर जाकर तेंदुए का पोस्टमार्टम शुरू किया। जिसमें पाया गया कि तेंदुए को गोली से मारा गया है। विभागीय कार्रवाई के बाद फॉरेस्ट व पुलिस विभाग की टीम ने नियमों के तहत तेंदुए को जला दिया गया।

कम से कम सात साल की सजा का प्रावधान: डीएफओ

डीएफओ नालागढ़ यशुदीप सिंह का कहना है कि एक मादा तेंदुआ को गोली मारने का मामला सामने आया है। पोस्टमार्टम में खुलासा हुआ है कि छर्रे लगने से मारा गया है। पुलिस के साथ मिलकर फॉरेस्ट विभाग जांच में जुटा हुआ है। थाना रामशहर में मामला दर्ज कर लिया गया है। वन्य अधिनियम 1972के तहत इस अपराध में कम से कम सात साल की सजा का प्रावधान है। जिसने भी अपराध किया है उसे जल्द पकड़ा जाएगा।

0


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *