शिमला में खाद्य आपूर्ति विभाग ने 143 में से 82 फर्जी गरीबाें से की 16.20 लाख रुपए की रिकवरी

Posted on

शिमला5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

गरीबाें का राशन डकारने वाले 82 फर्जी गरीबाें से खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने दस दिन के भीतर 16.20 लाख रुपए की रिकवरी कर दी है। प्रदेश के सभी जिलाें में 143 फर्जी गरीब पाए गए हैं, जाे पिछले काफी समय से गरीबाें का हिस्से का सस्ता राशन खा रहे थे। इसमें कांगड़ा जिला में सबसे ज्यादा फर्जी गरीब पाए गए हैं। यहां पर 47 साधन संपन्न लाेग पाए गए हैं जिन्हाेंने अपना नाम बीपीएल की सूची में दर्ज किया है। विभाग ने इन से 7 लाख 62 हजार 490 रुपए की रिकवरी करनी है जाे अभी तक 1 लाख 24 हजार 726 रुपए ही रिकवर किए गए हैं। बिलासपुर में 7 फर्जी गरीबाें से तीन लाख 11 हजार 280 रुपए रिकवर किए जाने हैं जाे दाे लाख 50 हजार 66 रुपए रिकवर किए गए है। चंबा में 27 लाेगाें से चार लाख 85 हजार 95 रुपए में से चार लाख 36 हजार 807, कुल्लू में पांच फर्जी गरीबाें से 99 हजार 222 में से 87 हजार 688, किन्नाैर में 7 फर्जी गरीबाें से एक लाख 19 हजार 677 में से एक लाख 4 हजार 768 रुपए की रिकवरी की जा चुकी है।

लाहाैल स्पीति में एक ही फर्जी गरीब पाया गया जिसने 26 हजार का राशन डकारा और विभाग ने उससे पूरे पैसाें की वसूली कर दी है। मंडी में भी 9 लाेग फर्जी गरीब बनकर एक लाख 98 हजार 581 लाेगाें का राशन खा चुके हैं। विभाग इन लाेगाें से एक लाख 49 हजार 536 रुपए की रिकवरी कर चुका है। शिमला में 23 लाेगाें से दाे लाख 19 हजार 193, साेलन में दाे लाेगाें से 75 हजार सिरमाैर और ऊना में तीन- तीन फर्जी गरीबाें से एक लाख 61 हजार रुपए कवर कर चुका है। विभाग ने 61 लाेगाें से अभी 10 लाख 91 हजार 362 रुपए अभी और रिकवर करने है। विभाग के निदेशक आबिद हुसैन ने बताया कि फर्जी बने गरीबाें से शीघ्र रिकवरी का यह पैसा वसूल लिया जाएगा।

0


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *