हिमाचल: एचआरटीसी पीसमील वर्करों की अनिश्चितकालीन हड़ताल से वर्कशॉप में काम ठप

0
38
एचआरटीसी पीसमील वर्कर हड़ताल पर


अमर उजाला नेटवर्क, शिमला
Published by: Krishan Singh
Updated Tue, 30 Nov 2021 12:58 PM IST

सार

एचआरटीसी में तैनात करीब एक हजार पीसमील वर्करों को अनिश्चितकालीन टूल डाउन हड़ताल दूसरे दिन भी जारी है।  हड़ताल के साथ ही वर्कशॉप में कामकाज ठप हो गया है। 

एचआरटीसी पीसमील वर्कर हड़ताल पर
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

हिमाचल पथ परिवहन निगम(एचआरटीसी) में तैनात करीब एक हजार पीसमील वर्करों को अनिश्चितकालीन टूल डाउन हड़ताल दूसरे दिन भी जारी है। कर्मचारियों ने शिमला समेत प्रदेश भर में स्थित एचआरटीसी वर्कशॉप में गेट बंद कर प्रदर्शन और नारेबाजी की।  हड़ताल के साथ ही वर्कशॉप में कामकाज ठप हो गया है। कर्मचारियों का आरोप है कि सरकार ने उन्हें नियमित करने के लिए परिवहन कर्मचारी संयुक्त समन्वयक समिति के साथ हुई बैठक में आश्वस्त किया था। कहा गया था कि इस संबंध में 25 नवंबर तक नीति बना दी जाएगी, लेकिन सरकार 28 नवंबर तक नीति नहीं बना सकी।

इसके बाद अब कर्मचारियों ने अनिश्चितकालीन टूल डाउन हड़ताल शुरू की है। हिमाचल परिवहन निगम पीसमील कर्मचारी संघ के अध्यक्ष खेम चंद ने कहा कि यह पहली बार नहीं है कि कर्मचारी अपने हक के लिए हड़ताल पर गए हैं। 16 से 24 अगस्त के बीच भी कर्मचारी हड़ताल पर थे और उस समय परिवहन मंत्री ने आश्वासन दिया था कि वह नीति बनाकर कर्मचारियों के नियमित होने का रास्ता साफ करेंगे। इसके बाद 16 नवंबर को एचआरटीसी की जेसीसी में भी निगम के एमडी ने आश्वासन दिया। उसके बाद से अब तक इसके लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है। खेम चंद ने कहा कि जब तक सरकार लिखित आदेश जारी नहीं करेगी, तब तक हड़ताल जारी रहेगी। 

विस्तार

हिमाचल पथ परिवहन निगम(एचआरटीसी) में तैनात करीब एक हजार पीसमील वर्करों को अनिश्चितकालीन टूल डाउन हड़ताल दूसरे दिन भी जारी है। कर्मचारियों ने शिमला समेत प्रदेश भर में स्थित एचआरटीसी वर्कशॉप में गेट बंद कर प्रदर्शन और नारेबाजी की।  हड़ताल के साथ ही वर्कशॉप में कामकाज ठप हो गया है। कर्मचारियों का आरोप है कि सरकार ने उन्हें नियमित करने के लिए परिवहन कर्मचारी संयुक्त समन्वयक समिति के साथ हुई बैठक में आश्वस्त किया था। कहा गया था कि इस संबंध में 25 नवंबर तक नीति बना दी जाएगी, लेकिन सरकार 28 नवंबर तक नीति नहीं बना सकी।

इसके बाद अब कर्मचारियों ने अनिश्चितकालीन टूल डाउन हड़ताल शुरू की है। हिमाचल परिवहन निगम पीसमील कर्मचारी संघ के अध्यक्ष खेम चंद ने कहा कि यह पहली बार नहीं है कि कर्मचारी अपने हक के लिए हड़ताल पर गए हैं। 16 से 24 अगस्त के बीच भी कर्मचारी हड़ताल पर थे और उस समय परिवहन मंत्री ने आश्वासन दिया था कि वह नीति बनाकर कर्मचारियों के नियमित होने का रास्ता साफ करेंगे। इसके बाद 16 नवंबर को एचआरटीसी की जेसीसी में भी निगम के एमडी ने आश्वासन दिया। उसके बाद से अब तक इसके लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है। खेम चंद ने कहा कि जब तक सरकार लिखित आदेश जारी नहीं करेगी, तब तक हड़ताल जारी रहेगी। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here