हिमाचल: विद्यार्थियों के लिए खुले स्कूल, इन कोरोना नियमों का पालन जरूरी


अमर उजाला नेटवर्क, शिमला
Published by: Krishan Singh
Updated Mon, 27 Sep 2021 04:43 PM IST

सार

हिमाचल प्रदेश में विद्यार्थियों के लिए स्कूल फिर खुल गए हैं। विद्यार्थियों और स्कूल के तमाम स्टाफ को कोरोना को लेकर जारी एसओपी के तहत स्कूल आना होगा। विद्यार्थियों की प्रवेश से पहले थर्मल स्कैनिंग की जाएगी। सभी को मास्क पहनना जरूरी होगा। 
 

स्कूल में थर्मल स्कैनिंग के बाद विद्यार्थियों को प्रवेश मिला।
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

हिमाचल प्रदेश में विद्यार्थियों के लिए सोमवार से फिर स्कूल खुल गए हैं। गत दिनों कैबिनेट बैठक में लिए गए फैसले के अनुसार सप्ताह के पहले दिन सोमवार, मंगलवार और बुधवार को 10वीं और 12वीं कक्षा के विद्यार्थी स्कूल आएंगे। गुरुवार, शुक्रवार और शनिवार को नौवीं और 11वीं के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खुलेंगे। विद्यार्थियों और स्कूल के तमाम स्टाफ को कोरोना को लेकर जारी एसओपी के तहत स्कूल आना होगा। स्कूलों में प्रवेश से पहले परिसर को सैनिटाइज किया जाएगा। विद्यार्थियों की प्रवेश से पहले थर्मल स्कैनिंग की जाएगी। सभी को मास्क पहनना जरूरी होगा। 

ये भी पढ़ें: World Tourism Day: जानिए हिमाचल के इन 10 खूबसूरत पर्यटन स्थलों को, जहां घूमकर नहीं भरेगा आपका मन

विद्यार्थियों के लिए स्कूलों में लंच ब्रेक और आने-जाने का समय कक्षावार अलग-अलग रखा गया है। कक्षाओं में एक बेंच छोड़कर विद्यार्थी बिठाए जाएंगे। स्कूल के कमरे की क्षमता अनुसार 50 फीसदी विद्यार्थियों को ही एक साथ बिठाया जाएगा। शेष विद्यार्थियों की क्लास दूसरे कमरे में लगाई जाएगी। प्रार्थना सभा, खेलकूद सहित एकत्र होने वाली अन्य गतिविधियों पर भी रोक रहेगी। उच्च शिक्षा निदेशालय ने सभी स्कूल प्रिंसिपलों को विद्यार्थियों की क्षमता और कमरों की संख्या के अनुसार माइक्रो प्लान बनाने को कहा है।  शिक्षकों और विद्यार्थियों के लिए फेस मास्क पहनना अनिवार्य रहेगा। थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही स्कूल परिसरों में प्रवेश दिया जाएगा। वहीं, आठवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन कक्षाएं और परीक्षाएं जारी रहेंगी।

सरकारी स्कूलों में 28 सितंबर को होगा शिक्षक-अभिभावक संवाद
वहीं, प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के अभिभावकों के साथ मंगलवार को शिक्षक संवाद करेंगे। इस दौरान फर्स्ट टर्म परीक्षाओं के परिणामों को साझा किया जाएगा। समग्र शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना कार्यालय की ओर से इस बाबत सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं। चार से 14 सितंबर तक सरकारी स्कूलों में नवीं से बारहवीं कक्षा की फर्स्ट टर्म परीक्षाएं ऑनलाइन ली गई हैं। प्रति विषय तीन घंटे की परीक्षा में विद्यार्थियों से 40 फीसदी ऑब्जेक्टिव और 60 फीसदी सब्जेक्टिव सवाल पूछे गए। परीक्षा के बाद उत्तर पुस्तिकाओं की विद्यार्थियों नेे मोबाइल फोन से फोटो खिंचकर वापस भेजी। उत्तर पुस्तिकाओं को अभिभावकों के माध्यम से संबंधित शिक्षकों के पास भी जमा कर लिया गया है। 26 सितंबर तक सभी शिक्षकों को परीक्षा परिणाम तैयार करने को कहा गया था। 28 सितंबर को आयोजित होने वाले संवाद में अभिभावकों को स्कूलों में बुलाकर या ऑनलाइन संवाद किया जाएगा। फर्स्ट टर्म परीक्षा के नतीजों को अभिभावकों से साझा करते हुए कमियों को दूर करने के लिए आगामी योजना बनाई जाएगी।

विस्तार

हिमाचल प्रदेश में विद्यार्थियों के लिए सोमवार से फिर स्कूल खुल गए हैं। गत दिनों कैबिनेट बैठक में लिए गए फैसले के अनुसार सप्ताह के पहले दिन सोमवार, मंगलवार और बुधवार को 10वीं और 12वीं कक्षा के विद्यार्थी स्कूल आएंगे। गुरुवार, शुक्रवार और शनिवार को नौवीं और 11वीं के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खुलेंगे। विद्यार्थियों और स्कूल के तमाम स्टाफ को कोरोना को लेकर जारी एसओपी के तहत स्कूल आना होगा। स्कूलों में प्रवेश से पहले परिसर को सैनिटाइज किया जाएगा। विद्यार्थियों की प्रवेश से पहले थर्मल स्कैनिंग की जाएगी। सभी को मास्क पहनना जरूरी होगा। 

ये भी पढ़ें: World Tourism Day: जानिए हिमाचल के इन 10 खूबसूरत पर्यटन स्थलों को, जहां घूमकर नहीं भरेगा आपका मन

विद्यार्थियों के लिए स्कूलों में लंच ब्रेक और आने-जाने का समय कक्षावार अलग-अलग रखा गया है। कक्षाओं में एक बेंच छोड़कर विद्यार्थी बिठाए जाएंगे। स्कूल के कमरे की क्षमता अनुसार 50 फीसदी विद्यार्थियों को ही एक साथ बिठाया जाएगा। शेष विद्यार्थियों की क्लास दूसरे कमरे में लगाई जाएगी। प्रार्थना सभा, खेलकूद सहित एकत्र होने वाली अन्य गतिविधियों पर भी रोक रहेगी। उच्च शिक्षा निदेशालय ने सभी स्कूल प्रिंसिपलों को विद्यार्थियों की क्षमता और कमरों की संख्या के अनुसार माइक्रो प्लान बनाने को कहा है।  शिक्षकों और विद्यार्थियों के लिए फेस मास्क पहनना अनिवार्य रहेगा। थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही स्कूल परिसरों में प्रवेश दिया जाएगा। वहीं, आठवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन कक्षाएं और परीक्षाएं जारी रहेंगी।

सरकारी स्कूलों में 28 सितंबर को होगा शिक्षक-अभिभावक संवाद

वहीं, प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के अभिभावकों के साथ मंगलवार को शिक्षक संवाद करेंगे। इस दौरान फर्स्ट टर्म परीक्षाओं के परिणामों को साझा किया जाएगा। समग्र शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना कार्यालय की ओर से इस बाबत सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं। चार से 14 सितंबर तक सरकारी स्कूलों में नवीं से बारहवीं कक्षा की फर्स्ट टर्म परीक्षाएं ऑनलाइन ली गई हैं। प्रति विषय तीन घंटे की परीक्षा में विद्यार्थियों से 40 फीसदी ऑब्जेक्टिव और 60 फीसदी सब्जेक्टिव सवाल पूछे गए। परीक्षा के बाद उत्तर पुस्तिकाओं की विद्यार्थियों नेे मोबाइल फोन से फोटो खिंचकर वापस भेजी। उत्तर पुस्तिकाओं को अभिभावकों के माध्यम से संबंधित शिक्षकों के पास भी जमा कर लिया गया है। 26 सितंबर तक सभी शिक्षकों को परीक्षा परिणाम तैयार करने को कहा गया था। 28 सितंबर को आयोजित होने वाले संवाद में अभिभावकों को स्कूलों में बुलाकर या ऑनलाइन संवाद किया जाएगा। फर्स्ट टर्म परीक्षा के नतीजों को अभिभावकों से साझा करते हुए कमियों को दूर करने के लिए आगामी योजना बनाई जाएगी।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *