Identify and prepare data of Divyang and minority sections in Sirmaur district, DC issued instructions to all departments | सिरमौर जिले में दिव्यांगों और अल्पसंख्यक वर्गों की पहचान कर तैयार करें डेटा, डीसी ने सभी विभागों को निर्देश किए जारी

Posted on

  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Identify And Prepare Data Of Divyang And Minority Sections In Sirmaur District, DC Issued Instructions To All Departments

शिमला8 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

दिव्यांगों और अल्पसंख्यक वर्गों के कल्याणार्थ के लिए जिला सिरमौर में सर्वेक्षण कर डेटा बेस तैयार करें। ताकि इन वर्गों से संबंधित कोई भी व्यक्ति सरकार की कल्याणार्थ योजनाओं से वंचित न रहे। यह निर्देश डीसी डॉ. आरके परुथी ने अल्पसंख्यक वर्ग कल्याणार्थ प्रधानमंत्री नया 15 सूत्रीय कार्यक्रम, जिला स्तरीय दिव्यांगता समिति व जिला स्तरीय सतर्कता एवं प्रबोधन समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए संबंधित विभागों को दिए। उन्होंने बताया कि जिला सिरमौर में अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 के तहत 2016 से 31 अगस्त 2020 तक 75 मामले दर्ज हुए जिनमें से 46 मामले न्यायालय में लंबित हंै। 4 मामले खारिज व 11 मामले में अनुसूचित जाति जनजाति की धाराओं से मुक्त किए है जिनमें अभी तक 72 पीड़ितों में से 65 लोगों को 98 लाख 38 हजार 750 रुपये की राहत राशि प्रदान की गई है। बैठक में डीसी ने शिक्षा उपनिदेशक को शिक्षण संस्थानों में उर्दू और पंजाबी विषयों के अध्यापकों की तैनाती को लेकर जरूरी कदम उठाने के निर्देश भी दिए।

उन्होंने कहा कि जब तक स्थाई व्यवस्था नहीं होती है तब तक शिक्षा विभाग डेपुटेशन के आधार पर ऐसी व्यवस्था बनाए। ताकि उर्दू और पंजाबी विषयों को पढ़ने वाले विद्यार्थियों को इन विषयों को पढ़ने को लेकर समस्याओं का सामना न करना पड़े। डीसी ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को मेधावी छात्राओं के लिए कार्यान्वित की जा रही मौलाना आजाद राष्ट्रीय छात्रवृति योजना के ऑनलाइन पंजीकरण को लेकर सामने आ रही दिक्कतों को दूर करने के लिए भी कहा ताकि पात्र विद्यार्थियों को इस महत्वपूर्ण योजना का लाभ मिलना सुनिश्चित हो सके।

0


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *