The Fight Started In The Name Of The Nominated Councilors – मनोनित पार्षदों के नाम पर माथापच्ची शुरू, सहमति न बनी तो होगा नुकसान


ख़बर सुनें

हमीरपुर। नगर परिषद हमीरपुर में मनोनीत पार्षदों के नाम पर माथापच्ची शुरू हो गई है, लेकिन इन पार्षदों के नामों की घोषणा से पहले विधानसभा चुनाव में होने वाले नफे-नुकसान का आकलन भी किया जा रहा है। मंडल भाजपा को डर है कि अगर मनोनीत पार्षदों के नाम पर आम सहमति न बनी तो आने वाले चुनावों में पार्टी को नुकसान हो सकता है।
इसलिए मंडल भाजपा के पदाधिकारी, नगर परिषद के निर्वाचित पार्षदों और यहां स्थानीय नेता के साथ आम सहमति बनाने का प्रयास किया जा रहा है, ताकि आने वाले समय में किसी तरह की गुटबाजी को हवा न मिले। नगर परिषद हमीरपुर में चार पार्षदों का मनोनयन होना है।
मंडल भाजपा ने जिन लोगों की सूची तैयार की है, उसमें सदर विधायक नरेंद्र ठाकुर के भांजे नितिन पटियाल का नाम वार्ड नंबर एक से, विपिन शर्मा का नाम वार्ड नंबर दो से, मुनीष पुरी का नाम वार्ड नंबर चार और कमलेश कुमार का नाम वार्ड नंबर पांच से बताया जा रहा है।
लेकिन, इनमें अभी तक फेरबदल की भी गुंजाइश है। इसके अलावा वार्ड नंबर तीन से पूर्व पार्षद एवं व्यापार मंडल के प्रधान अनिल सोनी, नप के पूर्व प्रधान दीप बजाज और पूर्व पार्षद अश्वनी शर्मा के नाम पर भी चर्चा चल रही है। मंडल भाजपा और सदर विधायक की सहमति के बाद मनोनीत पार्षदों के नाम शहरी विकास विभाग शिमला में भेजे जाएंगे। जहां से सचिव शहरी विकास विभाग अधिसूचना जारी करेंगे। नगर परिषद हमीरपुर में कुल 11 वार्ड हैं, जिसमें से भाजपा के छह प्रत्याशी चुनाव जीते हैं। जबकि पांच से सुदेश आनंद, वार्ड नंबर आठ से विनय कुमार और वार्ड नंबर दस से डॉ. सुशील कुमार ने भी बिना शर्त भाजपा को समर्थन दिया है। जबकि, वार्ड नंबर एक और पांच में कांग्रेस समर्थित पार्षद हैं। वर्तमान में चार पार्षदों को नगर परिषद में मनोनीत किया जाना है। पूरी नगर परिषद के साथ मनोनीत पार्षदों की भी आने वाले चुनाव में अहम भूमिका रहेगी।
उधर, नगर परिषद हमीरपुर के अध्यक्ष मनोज कुमार मिन्हास ने कहा कि परिषद में चार मनोनीत पार्षद नियुक्त किए जाएंगे। लेकिन, वे कौन लोग होंगे इस पर सदर विधायक ही अंतिम मुहर लगाएंगे। इसके बाद शहरी विकास विभाग शिमला से अधिसूचना होगी।

हमीरपुर। नगर परिषद हमीरपुर में मनोनीत पार्षदों के नाम पर माथापच्ची शुरू हो गई है, लेकिन इन पार्षदों के नामों की घोषणा से पहले विधानसभा चुनाव में होने वाले नफे-नुकसान का आकलन भी किया जा रहा है। मंडल भाजपा को डर है कि अगर मनोनीत पार्षदों के नाम पर आम सहमति न बनी तो आने वाले चुनावों में पार्टी को नुकसान हो सकता है।

इसलिए मंडल भाजपा के पदाधिकारी, नगर परिषद के निर्वाचित पार्षदों और यहां स्थानीय नेता के साथ आम सहमति बनाने का प्रयास किया जा रहा है, ताकि आने वाले समय में किसी तरह की गुटबाजी को हवा न मिले। नगर परिषद हमीरपुर में चार पार्षदों का मनोनयन होना है।

मंडल भाजपा ने जिन लोगों की सूची तैयार की है, उसमें सदर विधायक नरेंद्र ठाकुर के भांजे नितिन पटियाल का नाम वार्ड नंबर एक से, विपिन शर्मा का नाम वार्ड नंबर दो से, मुनीष पुरी का नाम वार्ड नंबर चार और कमलेश कुमार का नाम वार्ड नंबर पांच से बताया जा रहा है।

लेकिन, इनमें अभी तक फेरबदल की भी गुंजाइश है। इसके अलावा वार्ड नंबर तीन से पूर्व पार्षद एवं व्यापार मंडल के प्रधान अनिल सोनी, नप के पूर्व प्रधान दीप बजाज और पूर्व पार्षद अश्वनी शर्मा के नाम पर भी चर्चा चल रही है। मंडल भाजपा और सदर विधायक की सहमति के बाद मनोनीत पार्षदों के नाम शहरी विकास विभाग शिमला में भेजे जाएंगे। जहां से सचिव शहरी विकास विभाग अधिसूचना जारी करेंगे। नगर परिषद हमीरपुर में कुल 11 वार्ड हैं, जिसमें से भाजपा के छह प्रत्याशी चुनाव जीते हैं। जबकि पांच से सुदेश आनंद, वार्ड नंबर आठ से विनय कुमार और वार्ड नंबर दस से डॉ. सुशील कुमार ने भी बिना शर्त भाजपा को समर्थन दिया है। जबकि, वार्ड नंबर एक और पांच में कांग्रेस समर्थित पार्षद हैं। वर्तमान में चार पार्षदों को नगर परिषद में मनोनीत किया जाना है। पूरी नगर परिषद के साथ मनोनीत पार्षदों की भी आने वाले चुनाव में अहम भूमिका रहेगी।

उधर, नगर परिषद हमीरपुर के अध्यक्ष मनोज कुमार मिन्हास ने कहा कि परिषद में चार मनोनीत पार्षद नियुक्त किए जाएंगे। लेकिन, वे कौन लोग होंगे इस पर सदर विधायक ही अंतिम मुहर लगाएंगे। इसके बाद शहरी विकास विभाग शिमला से अधिसूचना होगी।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: